तो इसलिए शादी के बाद बड़े होने लगते हैं महिलाओं के हिप्स

क्या आप जानते हैं कि शादी के बाद लड़कियों के बड़े हिप्स होने का कारण क्या है? लड़कियों की शादी होने के बाद उनके हिप्स फूलने लगते हैं। अक्सर लड़कों के मन में लड़कियों को लेकर कई तरह की बातें चलती हैं, लड़कों की नज़र जब भी लड़कियों पर पड़ती है वो उनके अंगों को बहुत ही ध्यान से देखते हैं। आपने भी कभी गौर किया होगा कि शादी होने से पहले लड़कियां अपने फिगर को अच्छे से मेंटेन रखती है। लेकिन शादी के बाद उनके शरीर में कई तरह के बदलाव देखने को मिलते हैं, जैसे – हिप्स का बड़ा होना या कमर मोटी हो जाना आदि। सभी लड़कों के मन में यह सवाल होता है कि आखिर क्यों आखिर शादी के बाद महिलाओं के हिप्स फूलने लगते हैं? 

अक्सर शादी के बाद लड़कियों के हिप्स फूलने लगते हैं। उनके शरीर में यह बदलाव किस वजह से आते हैं इसका उत्तर जानने के लिए हाल ही में एक सर्वे किया गया था और इस सर्वें में लड़कियों के हिप्स बढ़ने को लेकर चौंकाने वाली बाते सामने आयी हैं।

इस सर्वे को करने के लिए 18 से 26 साल तक की 148 महिलाओं को शामिल किया गया था। इस सर्वे में शामिल लड़कियों और महिलाओं के हिप्स और उनकी कमर के सबसे पतले हिस्से को भी मापा गया।

लड़कियों और महिलाओं के हिप्स और कमर पर हुए सर्वे में चौंकाने वाली बाते सामने आयी। सर्वे में पता चला कि जितनी भी लड़कियों और महिलाओं ने एक से अधिक बार सेक्स किया था, उनके हिप्स आम लड़कियों या महिलाओं के मुकाबले ज्यादा बड़े थे।

इसके अलवा इस सर्वे से पता चला कि जिन लड़कियों के सेक्स पार्टनर बदलते रहते हैं उन के हिप्स अन्य दूसरी लड़कियों के मुकाबले 0.8 इंच अधिक बड़े पाए गए।

हिप्स बढ़ने का मुख्य कारण 

महिलाओं के इस सर्वे में हिप्स बड़े होने के कई कारण बताए गए हैं, लेकिन शादी के बाद लड़कियों के हिप्स बढ़ने का सबसे मुख्य कारण है उनका शारीरिक संबंध बनाना हैं।

सभी लड़कियां शादी के बाद जब अपने पति के साथ शारीरिक संबंध बनाती हैं, जिसके कारण उनके शरीर में हार्मोंन्स बदलाव आते हैं। इसका प्रभाव उनकी कमर और हिप्स जैसे अंगों पर दिखाई देता है। शादी के बाद महिलाओं के हिप्स धीरे-धीरे बड़े होने लगते हैं।

महिलाओं के हिप्स बड़े होने के अन्य कारण –

उम्र – महिलाओं के हिप्स उम्र के कारण भी बड़े हो जाते हैं। जैसे-जैसे महिलाओं की उम्र बढ़ती है, आपकी मांसपेशियां क्षतिग्रस्त होने लगती हैं। इसके बाद मांसपेशियां वसा कोशिकाओं (fat cells) द्वारा प्रदान की गई ऊर्जा का उपयोग करने लगती हैं। महिलाओं की उम्र बढ़ती है तो मेटाबोलिज्म कमजोर होने लगता है। इसकी वजह से हिप्स पर वसा जमने लगता है और वह बड़े हो जाते हैं।

सुस्त जीवनशैली – बड़े हिप्स का कारण महिलाओं की सुस्त जीवनशैली भी हो सकती हैं। जो महिलाएं कैलोरी को नष्ट करने के लिए नियमित एक्सरसाइज नहीं करती हैं, उनके हिप्स पर यह वसा के रुप में जमने लगती है। जिसकी वजह से महिलाओं के हिप्स बड़े हो जाते हैं।

एस्ट्रोजन – महिलाओं के हिप्स एस्ट्रोजन के कारण भी बड़े होते हैं। एस्ट्रोजेन एक ऐसा हार्मोन है जो महिला स्वास्थ्य के लिए आवश्यक है और शरीर में आदर्श मात्रा में मौजूद होना चाहिए। जेनो (xeno) यानि सिंथेटिक एस्ट्रोजेन के संपर्क में आने से आपके हिप्स का आकार बढ़ जाता, क्योंकि आपके शरीर के निचले हिस्से (lower body) में कई एस्ट्रोजन सेल रिसेप्टर साइट हैं। यही कारण है कि महिलाओं के हिप्स भारी हो जाते हैं।

इंसुलिन – महिलाओं के हिप्स इंसुलिन के कारण बड़े हो जाते हैं। इंसुलिन एक हार्मोन है जो अग्न्याशय (pancreas) द्वारा स्रावित होता है। यह तब होता है जब आपके रक्त में ग्लूकोज का उच्च स्तर मौजूद होता है। महिलाओं की खराब जीवनशैली एवं आदतें भी रक्त शर्करा को बढ़ा देती हैं। जिससे कूल्हों के ऊपर चर्बी (fat) जमने लगती है और कूल्हे बड़े और भारी दिखायी देने लगते हैं।

उच्च कैलोरी – उच्च कैलोरी का अधिक सेवन करने से महिलाओं के हिप्स फूलने लगते हैं। कैलोरी ऊर्जा का एक मुख्य उपाय है जो मानव शरीर को काम करने के लिए आवश्यक है। जो महिलाएं अपने आहार में इन कैलोरी का अधिक सेवन करती है लेकिन उसको बर्न करने के लिए कार्य नहीं करती है। यह कैलोरी महिलाओं के कूल्हों पर जमा होने लगती है और इस वजह से हिप्स बड़े हो जाते हैं।

महिलाओं के हिप्स बड़े होने के फायदे 

हिप्स के इस सर्वे में यह भी पता चलता है कि जिन महिलाओं के हिप्स बड़े होते हैं उन्हें बच्चा पैदा करते वक्त ज्यादा दर्द नहीं झेलना पड़ता है जिसके कारण वह आराम से बच्चे को जन्म दे पाती हैं। इसके विपरीत छोटे हिप्स वाली महिलाओं को डिलीवरी के समय अधिक दर्द झेलना पड़ता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Main Menu