रिलेशनशिप में क्यों ज़रूरी होता है सेक्स?

इंसानों के लिए सेक्स को सबसे ज़्यादा सुख देने वाली अनुभूति माना जाता है। महिला और पुरूष दोनों के लिए इसका एहसास और मायने अलग होते हैं। दोनों ही इससे संतुष्ट होते हैं लेकिन उनकी सोच अलग होती है। किसी भी रिश्ते में लवमेकिंग बहुत ज़रूरी होता है, इससे आपको कई भावनात्मलक लाभ मिलते हैं और तनाव भी दूर हो जाता है। साथ ही आप अपने आपको किसी के बहुत करीब पाते हैं, उस पर भरोसा करने लगते हैं और प्रेम भी। जब आप अपने पार्टनर के साथ लवमेकिंग करते हैं तो आपका उनके साथ कनेक्शन बहुत गहरा हो जाता है।

अपने पार्टनर के साथ फिजिकली कनेक्शन होने पर आप सहज हो जाते हैं और मन में आने वाली भावनाएं भी बहुत सकारात्मक हो जाती हैं। सेक्स एक खूबसूरत संबंध है। उस क्षण आप अपने सारे ग़म या शिकवे को भुलाकर सिर्फ किसी एक के हो जाते हैं।

1. कनेक्शन लवमेकिंग से आपका अपने पार्टनर के साथ गहरा कनेक्शन बन जाता है। फिजिकल कनेक्शन, अंतरंगता का सबसे ऊंचा स्तर होता है। किसी के साथ जिस्मानी रिश्ते होने से आप उसके साथ एक मानसिक कनेक्शन बना लेते हैं और ये कनेक्शन बेडरूम तक ही नहीं बल्कि पूरी जिदंगी पर असर डालता है। सेक्सुअल रिलेशन, रिश्ते में नयापन लाता है और उसे जीवंत रखता है। ये समय के साथ कम नहीं होता है, यदि आप दोनों के बीच हमेशा से उतना ही प्यार बरकरार रहता है। सेक्स करने से बनने वाले कनेक्शन में आप संकोच नहीं बल्कि प्रेम करते हैं।

2. तनाव मुक्त लवमेकिंग करने से आप तनाव मुक्त हो जाते हैं। कभी भी गौर करें कि सेक्स के बाद आपको हैप्पी फील होता है और चिंता व उलझन कहीं दूर भाग जाती है। पार्टनर के साथ लवमेकिंग जीवन का अहम हिस्सा है जो स्ट्रेस फ्री रहने का राज़ भी है। अगर आप रिश्ते में बोझिलता महसूस करते हैं तो लवमेकिंग इसका एक हल है। ये आपके रिश्ते में नयी ऊर्जा ला देता है और मज़बूती प्रदान करता है।

3. कम्यूनिकेट करने का ज़रिया लवमेकिंग भी बातचीत का एक तरीका है। ये आपके रिश्ते में आई चुप्पी को तोड़ देता है और उसमें नए रंग भर देता है। कई बार जब आप अपनी बातें या फैंटेसी शेयर नहीं कर पाते हैं तो सेक्स ही वो ज़रिया होता है जिससे आप अपनी बातें पार्टनर से शेयर करते हैं। इस तरह आप दोनों के बीच सीक्रेट टॉक की बॉन्डिंग बन जाती है। इस प्रॉसेस में दो बॉडी के मिलने के साथ-साथ दो मन या यूं कहें कि दो आत्माएं भी मिलती हैं। ये इच्छाओं को पूरा करने का एक रास्ता है।

4. नींद आने में सहायक सेक्स एक अच्छी एक्सरसाइज होती है जिसमें अचानक से कई कैलोरी बर्न हो जाती है, साथ ही आप टेंशन फ्री और रिफ्रेश हो जाते हैं जिसकी वजह से अच्छी नींद आती है। सेक्स के बाद आने वाली नींद बहुत गहरी होती है। ऐसा शरीर में ऑक्सीटोन के निकलने के कारण होता है जोकि आपके आसपास पॉजिटिविटी ला देती है और आप शांत महसूस करते हैं।

5. खुश करना सेक्स आपको खुश कर देता है। जो कपल्स हफ्ते में दो से तीन बार सेक्स करते हैं वो अन्य जोड़ों के मुकाबले कहीं ज्यादा हैप्पी रहते हैं। आप उनके चेहरे और पर्सनालिटी में भी वो ग्लो‍ देख सकते हैं।

6. हारमोन्स को बैलेंस रखने में सहायक सेक्स करने से आपके हारमोन्स संतुलित रहते हैं। सेक्सुअली सक्रिय रहने से आपका शरीर शांत और मन निश्चिन्त रहता है। साथ ही शरीर में हैप्पी हारमोन्स भी निकलते हैं। इसे करने से डिप्रेशन, तनाव, टेंशन भी दूर हो जाती है। साथ ही फर्टिलिटी की समस्या भी दूर होती है।

सेक्स करने से कई बार आपके लेट पीरियड भी समय पर आ जाते हैं। आप खुद को हैप्पी और मोटिवेटेड फील करते हैं। हर मानव को एक उम्र के बाद इसकी आवश्यकता पड़ती है ताकि वो अपने शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य को बनाएं रख सकें। ये एक नेचुरल प्रक्रिया है जिसमें शर्म या घिन जैसी कोई बात नहीं है। सोशल टैबु अर्थात सामाजिक बंधनों की वजह से लोग इस पर खुलकर बात करना पसंद नहीं करते हैं। लेकिन ये शरीर और मन के लिए आवश्यक होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Main Menu