क्या है सेक्स? सेक्स का मतलब अलग-अलग लोगों के लिए अलग-अलग चीजों (योनि सेक्स, गुदा मैथुन, चुंबन, कोई भी यौन स्पर्श, मुख मैथुन, आपस में हस्तमैथुन) को करने से है। लेकिन इन सबसे ऊपर, यह एक स्वस्थ और प्राकृतिक सेक्सुअल एक्टिविटी है। यह कुछ ऐसा है जिसका ज्यादातर लोग आनंद लेते हैं और करने के बाद खुश होते हैं भले ही वे सेक्स का अलग-अलग तरीकों से अर्थ बनाते हों।

चाहे आप नार्मल क्यक्ति हों, लेस्बियन, समलैंगिक, या गे हों, आपको यह तय करने का अधिकार है कि आपके लिए सेक्स का क्या मतलब है।

यौन स्वास्थ्य ’का अर्थ है सहमति, आनंददायक और सुरक्षित यौन अनुभव। यह आपके लिए एक तरह से यौन संबंध बनाने के लिए है जो यौन संचारित संक्रमण (एसटीआई) होने या अनियोजित गर्भावस्था होने की संभावना को कम करता है। याद रखें कि आप अपने शरीर, अपने स्वास्थ्य और सेक्स के बारे में अपने निर्णयों के खुद इन्चार्ज हैं।

क्या आप अपनी सेक्सुअलिटी के बारे में अनिश्चित हैं? क्या आप इस बारे में उत्सुक हैं कि आप सेक्स का आनंद कब ले सकते हैं? क्या आप सोच रहे हैं कि क्या आप सेक्स के लिए तैयार हैं? इस तरह के सवाल पूरी तरह से सामान्य हैं!

सेक्स सिर्फ योनि * संभोग नहीं है। सेक्स बहुत कुछ है जो सेक्सुअल महसूस करता है। आप अपने किशोर वर्षों के दौरान सेक्स को कैसे परिभाषित कर सकते हैं, यह आपपर निर्भर करता है। आपकी यौन रुचियां समय के साथ बदल सकती हैं, और यह ठीक भी है।

यौन गतिविधि या सेक्सुअल एक्टिविटी कोई भी एक्टिविटी हो सकती है जिसमे दो लोग यौन रूप से संलग्न होते है। इसमें निम्नलिखित गतिविधियाँ शामिल हो सकती हैं:

  • योनि सेक्स
  • गुदा मैथुन
  • चुंबन
  • कोई भी यौन स्पर्श
  • मुख मैथुन
  • अपने शरीर को दूसरे व्यक्ति को दिखना
  • दूसरे व्यक्ति की यौन तस्वीरें लेना
  • किसी को अश्लील चित्र दिखाना

सेक्स का मतलब अलग-अलग लोगों के लिए अलग-अलग हो सकता है। जब अधिकांश लोग ‘सेक्स करने’ के बारे में बात करते हैं तो वे आमतौर पर योनी संभोग (या भेदक सेक्स) की बात करते हैं।

वास्तव में यौन संबंध के बिना ‘यौन’ होना भी संभव है। आप चुंबन, कोई भी यौन स्पर्श और मुख मैथुन

जैसी चीजें कर सकते हैं। सेक्स करने के सभी विकल्पों के बारे में जानने से आपको अपने लिए सही विकल्प चुनने में मदद मिल सकती है जो आपके लिए सबसे अच्छे हैं।

केवल आप ही तय कर सकते हैं कि सेक्स के बारे में आपके लिए क्या सही है।

आपको सेक्स करने और न करने का अधिकार है। कोई भी आपको ऐसा कुछ करने के लिए मजबूर नहीं कर सकता।

यदि, उदाहरण के लिए, योनि सेक्स करना आपको पसंद नहीं है और आप इसे नहीं करना चाहते हैं, तो आपकी कामुकता का पता लगाने और किसी और के साथ मज़ेदार और प्यार भरे रिश्ते का आनंद लेने के कई अन्य तरीके हैं।

सेक्स कितने प्रकार से किया जा सकता है 

योनि में लिंग डालकर सेक्‍स करने के पुराने तरीकों के अलावा भी सेक्स करने के कई प्रकार होते हैं जो सेक्‍स लाइफ में तड़के की तरह होते हैं, इनको करने से प्‍यार बढ़ता है और आपका रोमांस हमेशा जवां रहता है। जानें सेक्स के प्रकार

चुंबन या किसिंग

जब लोग खुशी या प्यार जताने के लिए अपने होंठों का उपयोग करते हैं – या तो एक-दूसरे के होंठों पर किस करते हैं, या शरीर के अन्य हिस्सों को अपने होंठों से छूते हैं। चुम्बन जीभ के साथ या जीभ के बिना भी किया जा सकता है।

योनि सेक्स 

जाइना या योनि संभोग, सेक्स का वह प्रकार है जिसे ज्यादातर लोग करना चाहते हैं। लड़कियां अक्सर योनि सेक्स करवाती है क्योंकि इससे उन्हें उत्तेजना और चरम सुख की प्राप्ति होती है। वास्तव में जब पुरुष लड़की की योनि (vagina) के अंदर लिंग को प्रवेश कराता है तो इसे योनि सेक्स कहा जाता है। यह सेक्स का एकमात्र ऐसा रूप (form) है जिसके कारण कोई भी महिला गर्भवती हो सकती है।

इसके अलावा असुरक्षित योनि सेक्स करने से यौन संचारित रोग (STDs) या यौन संचारित संक्रमण  (STIs) फैलने का खतरा सबसे ज्यादा रहता है। हालांकि योनि सेक्स में सबसे ज्यादा आनंद प्राप्त होता है और चरम सुख भी योनि सेक्स के दौरान ही मिलता है।

यही कारण है कि सेक्स के सभी प्रकारों (Types of Sex In Hindi) में लोग योनि सेक्स करना अधिक पसंद करते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि योनि सेक्स के दौरान प्रेगनेंसी से बचने के लिए कंडोम का इस्तेमाल किया जाता है।

ओरल सेक्स या मुख मैथुन

सेक्स करने के प्रकार में ओरल सेक्स बहुत ही लोकपीर्य माना जाता है। आमतौर पर ज्यादातर लोग यह मानते हैं कि यदि वे सिर्फ ओरल सेक्स करते हैं तो वर्जिन कहलाएंगे। हालांकि यह धारणा गलत है क्योंकि ओरस सेक्स भी सेक्स का ही एक प्रकार है।

ओरल सेक्स संभोग का एक ऐसा रुप है जिसमें मुंह और जननांगों (genitals) के बीच संपर्क होता है। ओरल सेक्स करने वालों को भी बहुत अधिक मजा आता है। लेकिन ओरल सेक्स करके कोई महिला गर्भवती नहीं हो सकती। हालांकि योनि सेक्स की तरह ही ओरल सेक्स करने से भी एसटीडी और एसटीआई जैसे संक्रमण का खतरा हमेशा बना रहता है। इसलिए सुरक्षित ओरल सेक्स करने के लिए लोग कंडोम या डेंटल डैम (dental dam) का इस्तेमाल करते हैं।

एनल सेक्स या गुदा संभोग

वास्तव में एनल सेक्स एक ऐसा सेक्स है जिसमें गुदा (anus) में लिंग को प्रवेश कराया जाता है। इस प्रकार का सेक्स करने पर दर्द अधिक होने की संभावना होती है। ओरल सेक्स और योनि सेक्स की ही तरह एनल सेक्स करने के दौरान भी यौन संचारित रोगों (STI) का खतरा बना रहता है।

कुछ लोग मानते हैं कि एनल सेक्स सिर्फ समलैंगिक पुरुष (gay men) ही करते हैं लेकिन आपकी जानकारी के लिए बता दें कि महिलाएं भी एनल सेक्स करवाना चाहती हैं। इस तरह के सेक्स में जब गुदा की त्वचा पर दबाव पड़ता है तो दर्द के साथ खून भी निकल सकता हैं। हालांकि भारत के साथ ही दूसरे देशों में इस तरह का सेक्स काफी लोकप्रिय है।

हस्तमैथुन या मास्टरबेशन 

जब को लड़का या लड़की यौन आनंद (sexual pleasure) प्राप्त करने के लिए अपने जननांगों को अपने ही हाथों से उत्तेजित करता है या करती है तो इसे हस्तमैथुन कहा जाता है। हालांकि इसमें किसी अन्य व्यक्ति या सेक्स पार्टनर की कोई भूमिका नहीं होती है। जानें लड़कियां हस्तमैथुन कैसे करें।

जब आप उत्तेजित होने के लिए अपने शरीर के एक खास हिस्से को स्पर्श या स्ट्रोक करते हैं, तो इसे हस्तमैथुन कहा जाता है। अलग-अलग लोगों को अलग-अलग चीजें कामुक लगती हैं। शरीर के अंगों में भगशेफ, स्तन, निपल्स, योनि, लिंग या गुदा शामिल हो सकते हैं।

हस्तमैथुन आपके लिए बुरा नहीं है। यह आपकी पसंद है कि आप इसे करते हैं या नहीं।

मास्टरबेशन या हस्तमैथुन आपको स्वयं करना पड़ता है। हस्तमैथुन सेक्स का ऐसा प्रकार है जिसमें प्रेगनेंसी नहीं होती है और एसटीडी या एसटीआई जैसी बीमारियों का खतरा नहीं रहता है। हस्तमैथुन सेक्स के सभी रूपों (Types of Sex In Hindi) में बहुत सुरक्षित माना जाता है और इसे किसी भी समय यौन आनंद प्राप्त करने के लिए किया जा सकता है।

आपस में हस्तमैथुन 

म्यूचुअल मास्टरबेशन का मतलब होता है अपने पार्टनर के सामने या अपने हाथों से एक दूसरे का हस्तमैथुन करना। हालांकि इस दौरान एक दूसरे के जननांग संपर्क में नहीं आते हैं और इसे करने के लिए सिर्फ हाथों या उंगलियों (fingering) का ही इस्तेमाल किया जाता है।

जब दो या दो से अधिक लोग एक-दूसरे के शरीर के संवेदनशील हिस्सों को छूते हैं तो उसे आपसी हस्तमैथुन कहा जाता है।

यह सेक्स का एक सुरक्षित प्रकार है (Types of Sex In Hindi) और इसे करने से एसटीडी और एसटीआई का खतरा बिल्कुल भी नहीं होता है। इसके अलावा प्रेगनेंसी की संभावना शून्य (null) होती है।

फिंगरिंग

किसी अन्य व्यक्ति के जननांगों को उत्तेजित करने के लिए उंगलियों का उपयोग करना फिंगरिंग कहलाता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Main Menu