सेक्स नहीं करने से शरीर की इम्यूनिटी हो जाती है कम, त्वचा दिखती है बेजान, ये हैं सेक्स ना करने के 8 नुकसान

आप इस बात को भले स्वीकार करें या ना करें, लेकिन ये सच है कि शारीरिक संबंध स्थापित करना शरीर की जरूरत है। यौन रूप से सक्रिय होना आपको हेल्दी और चुस्त-दुरुस्त बनाता है, लेकिन जब आप सेक्स महीने में दो या तीन बार करते हैं, तो यह आपके खुद की सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है। जानिए, सेक्स नहीं करने से शरीर पर क्या नकारात्मक

हेल्दी डायट, स्वस्थ जीवनशैली, डेली एक्सरसाइज व योग का अभ्यास आदि कुछ बातें आपको लंबी उम्र तक स्वस्थ रखने के लिए बेहद जरूरी हैं। लेकिन, एक और काम है जो आपको शारीरिक और मानसिक रूप से हेल्दी और फिट रखता है। हम बात कर रहे हैं डेली लाइफ में सेक्स (Sex) को शामिल करने की। अक्सर कुछ लोग अपने ऑफिस के कार्यों में इतने व्यस्त रहते हैं कि उन्हें अपने जीवनसाथी के साथ दो घड़ी सुकून से बिताने का वक्त भी नहीं मिलता। एक-दूसरे के बीच प्यार, लगाव, आत्मविश्वास होना जितना जरूरी है, ठीक उसी तरह से सेक्स (Sex benefits) भी आपकी जिंदगी को सफल और स्वस्थ बनाने के लिए जरूरी है।

आप इस बात को भले स्वीकार करें या ना करें, ये सच है कि शारीरिक संबंध हमारे शरीर की जरूरत है। यौन रूप से सक्रिय होना आपको हेल्दी और चुस्त-दुरुस्त बनाता है, लेकिन जब आप सेक्स महीने में दो या तीन बार करते हैं, तो यह आपके खुद की सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है। सेक्स ना करने या बेहद कम करने से शरीर में कई बड़े बदलाव नजर आ सकते हैं। जानिए, सेक्स नहीं करने से शरीर पर क्या नकारात्मक असर पड़ सकता है

1 तनाव बढ़ जाता है

यदि आप सप्ताह में मात्र एक बार या महीने में तीन से पांच बार ही सेक्स करते हैं, तो इससे आपका शरीर तनाव (Stress) में आ सकता है। सेक्स नहीं करने का नाकारात्मक असर आपके पार्टनर पर भी पड़ेगा। आप शारीरिक संबंध ना बनाने चाहें, लेकिन पार्टनर की इच्छा होने पर भी पूरी ना हो, तो उनके अंदर भी चिंता, तनाव घर कर सकता है। उनके मन में ख्याल आ सकता है कि कहीं इस दूरी की वजह कोई तीसरा शख्स तो नहीं। इस कारण मूड स्विंग, चिड़चिड़ापन, नींद ना आने, भूख में कमी जैसी समस्याएं शुरू हो सकती हैं

2 शरीर की इम्यूनिटी हो जाती है कम

शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता आपको कई गंभीर रोगों से बचाए रखने का काम करती है। जब आप पार्टनर के साथ सेक्सुअल इंटरकोर्स या यौन संबंध नहीं स्थापित करते हैं, तो इससे आपकी इम्यूनिटी क्षमता भी कमजोर (Not having sex weakens immunity) होने लगती है। इससे आप आसानी से बीमार पड़ने लगते हैं। सेक्स करने से शरीर में इम्यूनोग्लोबिन केमिकल बढ़ता है। यह एक ऐसा केमिकल है, जो शरीर को बेहतर तरीके से गंभीर बीमारियों के खिलाफ लड़ने में मदद करता है।

3 खुद पर करने लगते हैं संकोच

जब आप सेक्स करते हैं, तो सुकून और खुशी का अहसास होता है। आप खुद से भी प्यार करने लगते हैं। शारीरिक संबंध स्थापित करने पर शरीर में डोपामाइन नामक हार्मोन रिलीज होता है। इस हार्मोन को खुशियों में इजाफा करने के लिए जाना जाता है यानी यह एक हैप्पी हार्मोन है। जब आप खुश रहते हैं, तो आत्मविश्वास बूस्ट होता है। वहीं दूसरी तरफ, जब आप महीनों सेक्स नहीं करते, पार्टनर से दूर रहते हैं, तो शरीर उदास रहता है। रक्त संचार कम (Side effects of not having sex in hindi) हो जाता है। आपको खुद पर संकोच होने लगता है कि आप किसी कार्य को कर पाएंगे या नहीं।

4 त्वचा नजर आती है बेजान और डल

यौन संबंध का पॉजिटिव असर सबसे ज्यादा स्किन पर नजर आता है। सेक्स करने से त्वचा में निखार (Sex improves skin glow) आता है। डोपामाइन हार्मोन लेवल के बढ़ने से स्किन ग्लो करती है। वहीं, जब डेली लाइफ में सेक्स का अभाव रहने लगता है, तो त्वचा बेजान, डल और मुरझाई सी नजर आने लगती है।

5 बढ़ सकता है ब्लड प्रेशर

मेडिकल जर्नल बायोलॉजिकल साइकोलॉजी में 2006 के एक अध्ययन में पाया गया कि जो लोग नियमित रूप से सेक्स (Sex) करते हैं, उनमें रक्तचाप का स्तर (Blood pressure level) उन लोगों की तुलना में कम था, जो सेक्स बहुत कम करते हैं। तो यदि आप चाहते हैं कि आपका ब्लड प्रेशर लेवल हाई ना हो, तो सेक्स जरूर करें।

6 बढ़ सकती है दूसरे में दिलचस्पी

यदि आप अपने पार्टनर को बार-बार सेक्स के लिए ना करते रहेंगे, तो हो सकता है आप दोनों के बीच दूरियां बढ़ जाएं। खासकर, जब एक महिला बार-बार अपने जीवनसाथी को सेक्स के लिए मना करती रहे, (sex na karne ke nuksaan) तो कुछ पुरुष ऐसे भी होते हैं, जो नई दोस्त बनाने में दिलचस्पी लेना शुरू कर देते हैं। इसकी वजह है अधिक दिनों तक सेक्स ना करने से फ्रस्ट्रेशन लेवल का बढ़ जाना। कुछ कपल तो इस स्थिति में वन नाइट स्टैंड के बारे में भी सोचने लगते हैं। लॉन्ग डिस्टेंस रिलेशनशिप में सेक्स ना करने के नुकसान अधिक देखे जाते हैं।

7 प्रोस्टेट कैंसर का खतरा

एक शोध में यह बात सामने आई है कि जो लोग एक महीने में 20 से अधिक बार स्खलन (Ejaculation) करते हैं, उनमें प्रोस्टेट कैंसर (prostate cancer) होने की संभावना काफी कम होती है। दूसरी तरफ, जिन्होंने एक महीने में सिर्फ चार से सात बार ही वीर्य (sperm) स्खलन किया, उनमें प्रोस्टेट कैंसर होने की संभावना अधिक पाई गई।

8 योनि की मांसपेशियां हो सकती हैं ड्राई

जो महिलाएं लंबे समय तक सेक्स नहीं करती हैं, उनकी योनि (Vaginal) की मांसपेशियों का कसाव कम होने लगता है। साथ ही योनि में खून का प्रवाह भी कम (sex na karne ke nuksaan) हो जाता है। इससे योनि के टिश्यू पतले होकर सूख जाते हैं। इसमें लुब्रिकेशन (Vaginal Lubrication) नहीं रह जाता है और सेक्स करते समय वेजाइना में ड्राईनेस महसूस होता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Main Menu