कैसे अपने फीमेल पार्टनर को संतुष्ट करें

1सहज होने में उसकी मदद करिए: यह सुनिश्चित करने के लिए कि उसको बिस्तर में मज़ा आ रहा है आपको पहली चीज़ तय करनी चाहिए कि वह आराम से हो। अपने मज़े की जगह हर चीज़ ऐसी करने की कोशिश करिए जैसे कि वह उसके आनंद के लिए हो। ऐसा करने से, आप उसको अपनी शुरुआत की उलझन और तनाव को कम करने में मदद करेंगे। सेक्स ड्राइव में कमी के परिणामस्वरूप महिलाओं में अक्सर तनाव बहुत बढ़ जाता है। जब वे तनाव की स्थिति में होती हैं तब उनके लिए मज़ा लेना बहुत कठिन हो जाता है। उनको रिलैक्स्ड (relaxed) और आराम से रखने के लिए जो भी करना हो, वह करिए।[१]

  • घर के कठिन कामों में उनकी मदद करिए। सीधी सादी चीज़ें करिए, जैसे कि खाना बनाने या बर्तन धोने में उनकी मदद करिए। महिलाओं को आदमियों का घर के काम में मदद करना बहुत प्रभावित करता है। उन्हें लगता है कि उनकी सराहना हुई है। वे अधिक सुरक्षित महसूस करती हैं और उन्हें लगता है कि उनसे अधिक प्यार किया जा रहा है। जब कोई महिला अधिक सुरक्षित महसूस करती है और उसे लगता है कि उससे अधिक प्यार किया जा रहा है, तब आम तौर पर उसकी सेक्स ड्राइव बढ़ जाती है।
  • उसकी पीठ की बढ़िया मालिश करिए। उसे इसका मज़ा और भी अधिक आयेगा अगर आप लोशन, मसाज के तेल और कुछ बढ़िया सुगंधित मोमबत्तियों का इस्तेमाल करेंगे। उसे रानी की तरह महसूस कराइए, मगर इसको कोई रोज़मर्रा का काम मत लगने दीजिएगा। उसे पता लगने दीजिये कि उसको खुश करना आपको अच्छा लगता है।
  • उसके लिए एक रूमानी स्नान की तैयारी करिए जिसमें मोमबत्तियाँ, मधुर सुगंध और संगीत शामिल हों। सभी महिलाओं को यह सब पसंद नहीं आता है, मगर सभी को सच्चा और स्वाभाविक प्यार और रोमांस पसंद आता है।
  • कभी भी उससे सेक्स के लिए ज़बरदस्ती या उसे मजबूर मत करिए। अगर वह अभी तैयार नहीं है, तब बात को जबरन आगे मत बढ़ाइए। इससे आपको कुछ भी हासिल नहीं होगा।

2 हमेशा उसे वॉर्म अप (warm up) होने (तैयार होने) का समय दीजिये: फ़ोरप्ले (foreplay) में कुछ समय बिता कर उसके शरीर को सेक्स के लिए तैयार होने के लिए सदैव कुछ समय दीजिये। फ़ोरप्ले किसी भी महिला के लिए बहुत महत्वपूर्ण होता है और इससे आपके सेक्स जीवन में एक नया डाइमेंशन (dimension) जुड़ जाता है। फ़ोरप्ले, पुरुषों और महिलाओं दोनों के लिए बहुत मज़ेदार हो सकता है। फ़ोरप्ले की सामान्य गतिविधियों में केवल उसके पैरों या छाती को दबाने से ले कर, गहन पैशनेट (passionate) चुंबन और शरीर के संवेदनशील अंगों को ज़बान से छेड़ने जैसी बहुत सारी चीज़ें शामिल हो सकती हैं। बहुत लोग स्पैंकिंग (spanking), रोल-प्ले (role-play) काटने, नोचने और चाटने जैसे फ़ोरप्ले को भी पसंद करते हैं।[२]

  • उससे गंदी बातें करने की कोशिश करिए। अगर आपको पता नहीं हो कि उसे यह सब पसंद है, तब उसकी अति मत करिए और बहुत किंकी (kinky) चीज़ों की बातें मत करिए। उससे बताइये कि धीरे-धीरे उसके शरीर से कपड़ों को अलग करने के लिए आप कितने बेचैन हैं, और आप किस तरह उसके पूरे शरीर का अपने होठों से मज़ा लेना चाहते हैं। उसे बताइये कि आपके मन में उसके शरीर के हर भाग की अपनी ज़बान से खोज करने की आपकी कितनी तमन्ना है। उसकी हर आह, सिसकारी और मूवमेंट (movement) पर ध्यान दीजिये (आपको पता होना चाहिए कि वह किस चीज़ को रिसपॉण्ड (respond) करती है)। आपकी बातें केवल इस पर फ़ोकस्ड (focused) होनी चाहिए कि आप उसको कितना ख़ुश करना चाहते हैं, न कि अपने पर।
  • उसके पूरे शरीर पर अपनी उँगलियाँ फिराइए। उन हिस्सों पर कोमलता से, जिन्हें आप जानते हैं कि वे सेंसिटिव (sensitive) हैं। सीधे उनको छूने के स्थान पर, उनको छेड़ने से शुरुआत करिए। उन आनंद देने वाले क्षेत्रों के आसपास तब तक रगड़िए जब तक कि वह आपसे उन जगहों पर छुए जाने के लिए गिड़गिड़ाने न लगे। इतने पर भी, वहाँ पर बस हल्के से रगड़िए और वापस चिढ़ाने पर लौट जाइए। इससे वह बेताब हो जाएगी और यह तय हो जाएगा कि वह तैयार है।
  • महिला शरीर की एनाटोमी (anatomy) सीख लीजिये: यदि आपकी महिला आपसे सेक्सुयली (sexually) असंतुष्ट है, तब इसका सामान्यतः मतलब यह है कि आप उसको सही तरीके से सुख नहीं दे रहे हैं। पुरुषों को अपने पेनिस (penis) के स्टिमुलेशन (stimulation) से आनंद मिलता है, इसलिए उन्हें यह तर्कसंगत लगता है कि स्त्रियों को भी वैजाइना (vagina) के स्टिमुलेशन से आनंद मिलेगा, मगर ऐसा हमेशा होता नहीं है। कुछ महिलाओं को केवल क्लिटरिस (clitoris) के स्टिमुलेशन से ऑर्गैज़्म (orgasm) तक पहुंचाया जा सकता है, जो कि वैजाइना की ओपेनिंग (opening) के ठीक ऊपर एक हुड (hood) वाली ग्लैण्ड (gland) होती है। क्लिटरिस के बारे में थोड़ी रिसर्च करिए और शरीर के इस सेंसिटिव भाग को इस तरह स्टिमुलेट करने का तरीका जान लीजिये जिससे आपको और आपके पार्टनर, दोनों को लाभ हो सके।

उसके इराजनस (erogenous) ज़ोन्स को खोजिए: स्त्री के शरीर में कुछ और भी क्षेत्र होते हैं जहां वह बहुत सेंसिटिव होती है और वहाँ स्टिमुलेट किए जाने पर उसे सेक्सुयल आनंद मिलेगा। इन क्षेत्रों को चाटने, चूमने, और अपनी उँगलियों के बीच में रगड़ने की कोशिश करिए। कुछ स्त्रियों को इन क्षेत्रों में थोड़े दर्द की अनुभूति से भी मज़ा आता है, इसलिए आप वहाँ पिंच (pinch) करने, काटने, नोचने, और स्पैंकिंग (spanking) की कोशिश भी कर सकते हैं। मगर बस अति मत कर दीजिएगा।[४]

  • इन क्षेत्रों में ये शामिल हैं: गर्दन के किनारे और पीछे, निप्पल (nipples) (और उसके आस पास के छाती के टिशू), पेट, बटक्स (buttocks), और जांघों का अंदरूनी भाग।
  • विभिन्न वेरिएशन (variation) और रिद्म्स (rhythms) को करके देखिये: यहीं पर वह पुरानी कहावत काम आती है “आपके पास कितना है उससे मतलब नहीं, मतलब तो इससे है कि आप उसका इस्तेमाल कैसे करते हैं।” स्त्रियों की वैजाइना में नर्व एंडिंग्स (nerve endings) कम होती हैं, इसलिए पेनीट्रेट (penetrate) होते समय उन्हें आनंद आपके मूवमेंट्स के वेरिएशन से आता है। अलग अलग रिद्म्स, दबाव और कोणों से कोशिश करिए और वह वाला खोज निकालिए जिसमें उनसे प्रतिक्रिया मिले। हर स्त्री भिन्न होती है, इसलिए आप नहीं जानते कि क्या काम करेगा, मगर मूसल की तरह उसमें जाने से उन्हें तो इतना अच्छा नहीं ही लगेगा, जितना कि आपको।
  • ओरल (oral) स्टिमुलेशन की कला में महारत हासिल करिए: ओरल सेक्स अच्छा लगता है, मगर कुछ पुरुष उसको पाने में जितना ध्यान देते हैं, उतना उसको देने में नहीं देते। स्त्रियों को भी उसमें (अधिक नहीं तो) उतना ही आनंद आता है, जितना पुरुषों को। अगर आप उन पर कुछ उपकार करना चाहते हैं तो अपनी तकनीक सुधारिए और उसको अक्सर करिए। थोड़ी रिसर्च करिए या करते समय उनसे पूछ कर दिशा निर्देश भी ले सकते हैं। यहाँ पर आपका मुख्य फ़ोकस क्लिटरिस पर होना चाहिए, मगर बाकी वैजाइना को भी भूल मत जाइयेगा। समझिए कि उनको क्या अच्छा लगता है, उनको थोड़ा चिढ़ाइए और वहाँ से आगे बढ़िए।

7उसकी फंतासियों (fantasies) को जान लीजिये: उन्हें बेशक यह पता चल जाने दीजिये कि आप उनको हर तरह से खुश करना चाहते हैं, और जितना हो सके उतना उनकी फंतासियों की गहराई में चले जाइए। जब वह अपनी सबसे गोपनीय इच्छाओं को सहजता से बताने लगे, और आपको खुले दिल से वह सब बताने लगे जो उसने कभी किसी और से साझा नहीं किया हो, तब उन बातों पर आगे बढ़िए और उसकी फंतासी को मूर्त रूप दीजिये!

8लगाम की अदला बदली करिए: कुछ स्त्रियाँ सेक्स के दौरान सबमिसिव (submissive) रहना पसंद करती हैं, कुछ चाहती हैं कि वे नियंत्रण में रहें। सभी औरतें अलग तरीके की होती हैं, और आपको उन वेबसाइट्स पर विश्वास नहीं करना चाहिए जो यह दावा करती हैं कि उनको पता है कि आपकी महिला कैसा व्यवहार करगी। उसे दोनों का मौका दीजिये और देखिये कि उसे क्या पसंद आता है। चाहे उसकी पसंद कोई एक ही क्यों न हो, इसका मतलब यह नहीं कि वह कभी कभार अदला-बदली या दोबारा करना पसंद नहीं करेगी!

सदैव ताज़गी बनाए रखिए: सेक्स को प्रेडिक्टेबल (predictable) तथा रूटीन (routine) बना उसको नीरस और असंतोषजनक बनाने का गारंटीड (guaranteed) तरीका है। अपने सेक्स जीवन को प्रेडिक्टेबल मत बनने दीजिये और आप उसे अपने बाकी दिनों के लिए व्यस्त और खुश रख सकेंगे। नई पोज़ीशन्स (positions), नई जगहें, दिन के अलग अलग समय, और चार्ज (charge) कौन लेगा इसको बदल-बदल कर कोशिश करके देखिये। प्रत्येक सप्ताह बुधवार की रात में बेडरूम में सेक्स, जिसमें वह चार्ज में रहेगी शायद वह कुछ समय बाद बासी हो जाएगा, मगर अगर आप शनिवार की सुबह खुद चार्ज में रहते हुये लिविंग रूम में उसके निकट आ कर उसे चकित कर दें, तब शायद आप चिंगारी को कुछ और समय तक सुलगाये रह सकते हैं।

10उससे बातें करिए!: अगर आपको अभी भी लगता है कि आप आगे नहीं बढ़ पा रहे हैं, तब आपको उनसे बातें करनी चाहिए! कम्यूनिकेशन (Communication) सम्बन्धों की कुंजी है और आपको उनके साथ इन विषयों पर बात करने में शरमाना नहीं चाहिए। अगर आप इस बारे में बातें करेंगे कि आपको क्या पसंद है और आपसे क्या छूट रहा है तभी आपका सेक्स जीवन सुधर सकता है। जैसे ही आप अपनी शुरुआत की हिचकिचाहट से उबर जाएँगे, वैसे ही पार्टनर से बातें करने का शानदार परिणाम आपको मिल जाएगा। उसे जो चाहिए, उस पर फ़ोकस करिए, अपने बजाय उनकी हिचक दूर करिए और बेशक आपकी महिला रेसिप्रोकेट (reciprocate) करेगी। न केवल आपका सेक्स जीवन सुधर जाएगा, बल्कि आप देखेंगे कि आपका आपसी संबंध भी आम तौर पर सुधर जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Main Menu