हस्तमैथुन/मास्टरबेशन के तीन फैक्ट्स जिसे शायद आप नहीं जानते होंगे

मास्टरबेशन या हस्तमैथुन को लेकर लोगों के मन में भ्रम रहता है. कुछ लोगों को सही जानकारी न होने की वजह से हस्तमैथुन या मास्टरबेशन डिप्रेशन की बीमारी देता है. हस्तमैथुन के बारे में कुछ शोध बहुत सही फैक्ट्स और जानकारी देते हैं.

हस्तमैथुन या मास्टरबेट (Masturbation) को लेकर कई तरह के भ्रम हैं. पुरुषों से लेकर महिलाएं तक मास्टरबेशन अर्थात हस्त मैथुन करती हैं. विश्वभर में तमाम तरह के मिथकों और मान्यता को लोग तरजीह देते हैं. अगर मिथकों की बात की जाय तो सबसे ज्यादा मिथक सेक्स को लेकर होते हैं। भारत जैसे देश में तो सेक्स पर बात करने से भी लोग कतराते हैं। अब अगर आप हस्तमैथुन (मास्टरबेशन) के बारे में ही लोगों से पूछेंगे तो बहुत सी भ्रामक बातें आपको सुनने को मिल जायेंगी। इस तरह जानकारी के आभाव में कभी-कभी कुछ लोग अवसाद में चले जाते हैं। इसका कारण होता है कि वो अपनी इस बात को किसी से शेयर नहीं करते और मन ही मन में कुढ़ते रहते हैं। इसलिए इस तरह की तमाम भ्रांतियों के प्रति हमेशा सचेत रहने की जरूरत है

क्या आप भारत में रहते हुए इस तरह की बात कर सकते हैं या ऐसा कोई महीना सेलिब्रेट कर सकते हैं शायद नहीं लेकिन पश्चिम के कई देशों में यह कानूनी रूप से मान्य है। सभी अपने हस्तमैथुन करने के अधिकार का उत्सव मनाते हैं.

fact about masturbation

जी हां सही पढ़ा आपने सभी लोग हस्तमैथन नहीं करते हैं। हो सकता है आप इस पर विश्वास न करें लेकिन यह सच है। कई क्लिनिकल रिसर्च में यह बात सामने आयी है कि केवल 57 प्रतिशत लोग ही नियमित रूप से हस्तमैथुन करते हैं। इसका कारण पंसद नापसंद भी हो सकती है

उन सभी को इसके बारे में जागरूक होने की जरूरत है जिनको यह लगता है कि हस्तमैथुन करना हेल्थ के लिए हानिकारक होता है। यह एक मिथक है। कई रिसर्च में इस बात का खुलासा हुआ है कि जो लोग हस्तमैथुन करते हैं उनकी रोग प्रतिरोधक क्षमता बेहतरत होती है।

जो लोग इसे करते हैं वो जानते हैं कि यह एक बेहद आनंददायक काम है और इसे करने के बाद रिलेक्स का एहसास होता है।

अगर स्पष्ट शब्दों में कहें तो हस्तमैथुनअपने जननांगों को उत्तेजित करना और यौन आनंद लेना पूरी तरह से सुरक्षित और स्वास्थ्यप्रद है visit website http://adultsextoysindia.com/

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Main Menu